Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

प्रदूषण के कहर से बच नहीं पाए भगवान, ‘जान’ बचाने के लिए लगाया मास्क

बढ़ते प्रदूषण के कहर से भगवान भी नहीं बच पाए, लिहाजा वाराणसी के सिगरा क्षेत्र में प्रसिद्ध शिव-पार्वती मंदिर में भगवान शिव, देवी दुर्गा, देवी काली और साईं बाबा की मूर्तियों को मास्क पहनाया गया है।

वारणसी। ठंड का मौसम आते ही देशभर में और  खास कर दिल्ली में प्रदूषण को लेकर काफी कुछ सुनने-देखने को मिलता है। प्रदूषण का आलम यह होता है कि लोग सांस लेने से भी डरते है। लेकिन बिना सांस लिए आप वैसे भी जिन्दा नहीं रह पाएंगे। लिहाजा लोग जहरीली हवा में सांस लेने को मजबूर हैं।

अब दिन-ब-दिन बढ़ता प्रदूषण इतना व्यापक और खतरनाक हो गया है कि इंसान तो क्या भगवान भी सांस लेने से डरने लगे हैं। यही कराण है कि भगवान ने भी मास्क पहन लिया है, ताकि थोड़ी बहुत राहत मिल सके।

वारणसी में भगवान ने पहना मास्क

दरअसल, उत्तर भारत में इन दिनों प्रदूषण (हवा की गुणवत्ता में गिरावट) का स्तर सबसे अधिक है। इसी बीच उत्तर प्रदेश के वाराणसी से एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जो हैरान करने वाली है।

वाराणसी के एक मंदिर में भगवान इस जहरीली हवा में सांस लेने से बचने के लिए मास्क पहने हुए हैं। वाराणसी के सिगरा क्षेत्र में प्रसिद्ध शिव-पार्वती मंदिर में भगवान शिव, देवी दुर्गा, देवी काली और साईं बाबा की मूर्तियों को मास्क पहनाया गया है।

मंदिर के पुजारी ने मूर्तियों को पहनाया मास्क

बता दें कि दीपावली के मौके पर भले ही राजधानी दिल्ली में पटाखे नहीं चलाए जए, लेकिन वारणसी और देश के बाकी शहरों व गावों में जमकर आतिसबाजियां की गई। लिहाजा वारणासी में दीपावली के बाद हवा का पीएम 2.5 का स्तर बढ़ गया था। इसके बाद मंदिर के पुजारी ने मूर्तियों को मास्क पहनाने का फैसाल किया।

मंदिर के मुख्य पुजारी का कहना है कि जब सर्दियों में देवताओं की मूर्तियों  को ठंड से बचाने के लिए कंबल या गर्म वस्त्र पहनाया जा सकता है, तो प्रदूषण से बचाने के लिए मास्क पहनाया जाना एक सामान्य बात है। पुजारी ने दावा किया कि सैंकड़ों भक्त, बच्चे, बुढे, जवान हर कोई मंदिर में आता है और भगवान को मास्क पहनाना चाहता है।

आपको बता दें कि पंजाब और हरियाणा में किसानों की ओर से पराली जलाने के कारण इस समय ज्यादा प्रदूषण बढ़ जाता है। बीते मंगलवार को पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने के 6600 मामले दर्ज किए गए, जो कि बीते रविवार के मुकाबले दो गुना है। रविवार को 2900 ऐसे मामले दर्ज किए गए थे।