Categories
फैक्ट फाइल

.. तो पीएम मोदी का तुर्की दौरा इसलिए हुआ रद्द!

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्टूबर के अंत तक तुर्की जाने वाले वाले थे, लेकिन फिर उन्होंने अपना दौरा रद्द कर दिया। अब सवाल उठता है कि अपनी विदेश यात्रा के जरिए भारत के गौरव को दुनिया में प्रतिस्थापित करने की कोशिश में जुटे प्रधानमंत्री मोदी ने  आखिर ऐसा क्यों क्या?

दरअसल, इसके पीछे कई कारण हैं, लेकिन हाल के घटनाक्रम के मद्देनजर यह कहा जा सकता है कि तुर्की के राष्ट्रपति रेसप तैयप एर्दोगन का भारत के खिलाफ लगातार बयानबाजी पीएम मोदी को पसंद नहीं आया।

कश्मीर विवाद पर एर्दोगन का बयान

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन कश्मीर मामले को लेकर लगातार बयानबाजी कर रहे हैं और पाकिस्तान का समर्थन कर रहे हैं।

एर्दोगन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में भाषण देते हुए कश्मीर का मुद्दा उठाया। उन्होंने मोदी सरकार के जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले पर भी सवाल खड़ा किया। उन्होंने यहां तक कहा कि भारत कश्मीर में मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है।

एर्दोगन लगातार कई मंचों पर कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं।

तुर्की का साइप्रस और आर्मेनिया के साथ तनाव

साइप्रस और आर्मेनिया के साथ तुर्की का विवाद काफी पुराना है। अब जब तुर्की ने कश्मीर का मुद्दा वैश्विक मंचों पर उठाना शुरू किया है तो ऐसे में भारत ने भी अपनी विदेश नीति में बदलाव करते हुए साइप्रस और आर्मेनिया के साथ नजदीकियां बढ़ाना शुरू कर दिया है।

प्रधानमंत्री मोदी साइप्रस और आर्मेनिया से नजीदिकियां बढ़ाकर तुर्की को उसी की भाषा में जवाब देने की कोशिश में है। ऐसे में यदि पीएम मोदी तुर्की का दौरा करते हैं तो संभवतः साइप्रस और आर्मेनिया में कुछ गलत संदेश जाए और फिर इसका नाकारात्मक परिणाम सामने आ सकता है।

लिहाजा पीएम मोदी ने एक रणनीति के तहत ही तुर्की का दौरा रद्द किया है। हालांकि सरकार की ओर से यह साफ नहीं किया गया कि पीएम मोदी का तुर्की दौरा क्यों रद्द किया गया है।