Categories
फैक्ट फाइल

Maharashtra: इसलिए उद्धव बने बाला साहेब के उत्तराधिकारी और राज ठाकरे हो गए शिवसेना से बाहर   

1995 में विधानसभा चुनाव में जीत के बाद शिवसेना—बीजेपी की महाराष्ट्र में पहली बार सरकार बनी। उस समय शिवसेना के सर्वेसर्वा बाला साहेब ठाकरे ने जीत के बाद कहा था- मैंने, कसम खाई है कि मैं सत्ता को टच नहीं करूंगा। मैं मुख्यमंत्री नहीं बनूंगा। लेकिन मीना ताई ने पासा पलटकर दिया। अब ठाकरे परिवार में वही हो रहा है जो बाला साहेब नहीं चाहते थे।

Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

Jammu-Kashmir: तो इल्तिजा संभालेंगी महबूबा मुफ्ती की सियासी विरासत, ट्वीटकर की इस बात की कोशिश

मोदी सरकार ने 5 अगस्त को घाटी के जिन 34 राजनीतिक नेताओं को नजरबंद किया था उन्हें जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने सेंटूर होटल से श्रीनगर के MLA छात्रावास में स्थानांतरित कर दिया गया है। इस दौरान उन्होंने निर्वाचित प्रतिनिधियों के साथ बदसलूकी की।

Categories
फैक्ट फाइल

Common Minimum Programme तैयार, फिर भी कांग्रेस नहीं है सरकार में शामिल होने को तैयार, जानिए क्यों?

सवाल है कि आखिर ऐसा कौन सा विवादास्पद मुद्दा है जिसपर तीनों पार्टियां एक टेबल पर नहीं आ पा रही हैं। यही वजह है कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने ( Government Formation ) का सपना साकार नहीं हो पा रहा है।

Categories
फैक्ट फाइल

16 नवंबर: क्रांतिकारी कर्तार सिंह सराभा कौन थे, ब्रिटिश हुकूमत को क्यों लगता था डर?               

जिस समय उन्हें फांसी पर चढ़ाया गया उस समय वह मात्र साढ़े उन्नीस वर्ष के थे। प्रसिद्ध क्रांतिकारी भगत सिंह उन्हें अपना आदर्श मानते थे।

Categories
फैक्ट फाइल

Jharkhand Assembly Elections 2019: इस बार क्या सोच रहा है आदिवासी समाज?

पांच महीने पहले हुए लोकसभा चुनाव में सामान्य सीटों की तुलना में आरक्षित पांच सीटों पर हुई जीत में वोटों के कम अंतर को देखते हुए भाजपा विधानसभा चुनाव में जीत को लेकर काफी सतर्क है।

Categories
फैक्ट फाइल

इन दिनों बेचैन क्यों हैं AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी?

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से एआईएमआईएम प्रमुख और मुस्लिमपरस्त ओवैसी के चेहरे से मुखौटा उतर गया है। आजकल वह केवल यही रट लगा रहे हैं कि मुझे अपनी मस्जिद वापस चाहिए।

Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

मुंजिला खातून ने ट्रेन में दिया 3 प्रिमैच्योर बेबी को जन्म, पसरा मातम

मुंजिला खातून ने चलती ट्रेन में तीन बच्चे को जन्म दिया। इनमें से दो की मौत हो गई। महिला की हालत खतरे से बाहर है।

Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

Rafale Deal: बॉलीवुड प्रोड्यूसर अशोक पंडित का बड़ा बयान, SC का फैसला राहुल गांधी के मुंह पर जोरदार तमाचा

बॉलीवुड के चर्चित प्रोड्यूसर अशोक पंडित ने राहुल गांधी पर ट्वीट कर जारी किया बड़ा बयान।

Categories
फैक्ट फाइल

एक बार फिर सबरीमाला आंदोलन पकड़ सकता है जोर

केरल सरकार को अब इसे टालने के बदले गंभीरता से लेना चाहिए। इस विवाद पर सबरी परंपरा के हिसाब से विचार करना चाहिए।

Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

अफसोसः नीतीश कुमार का PMCH गणितज्ञ वशिष्ठ बाबू के शव को मुहैया नहीं करा पाया एंबुलेंस

सीएम से लेकर पीएम तक के जेहन में इस बात का ख्याल नहीं आता कि देश का नाम रोशन करने वाले महान आत्मा का संस्कार सम्मानजनक तरीके से होने की व्यवस्था है भी या नहीं।

Categories
फैक्ट फाइल

अर्बन नक्सल: क्या है भीमा कोरेगांव मामला, क्यों लटकी है गौतम नवलखा पर गिरफ्तारी की तलवार?

गौतम नवलखा को लोग एक पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता के तौर पर जानते हैं।

Categories
फैक्ट फाइल

महाराष्ट्रः राष्ट्रपति शासन के बाद पक रही है इस बात की खिचड़ी

18 दिनों बाद भी किसी भी पार्टी या गठबंधन द्वारा दावा नहीं किए जाने की वजह से राज्यपाल की अनुशंसा पर राष्ट्रपति शासन लगाना पड़ा।

Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

महाराष्ट्र: चुनाव के बाद पहली बार बोले शाह, सीएम पद की मांग इसलिए किया खारिज

मैंने और पीएम मोदी ने शिवसेना को पहले ही बताया था कि महाराष्ट्र के सीएम दूसरी बार भी देवेंद्र फडणवीस ही होंगे।

Categories
फैक्ट फाइल

Ayodhya Verdict: प्रवीण तोगड़िया ने संघ और वीएचपी से पूछा: कोर्ट से राम मंदिर बनाना था तो आंदोलन क्यों किया?

2014 में पूर्ण बहुमत की सरकार आयी तब तीन तलाक़ का क़ानून बना लेकिन राम मंदिर का क़ानून नहीं बना। राम मंदिर तो सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से बना।

Categories
फैक्ट फाइल

Maharashtra Political Crisis: जानें महाराष्ट्र में कब-कब और क्यों लगा राष्ट्रपति शासन?

राष्ट्रपति ने मोदी कैबिनेट की सिफारिश को मंजूर कर महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को मंजूरी दी। उसके बाद से महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन प्रभाव में आ गया है।

Categories
ट्रेंडिंग न्यूज

Maharashtra: उद्धव ठाकरे पुत्रमोह में हुए NCP-Congress की राजनीति के शिकार, पर कैसे?

उद्धव को भरोसा था कि बीजेपी को सबक सिखाने के लिए एनसीपी और कांग्रेस शिवसेना की सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाएगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और उद्धव ठाकरे की नासमझी ने बीजेपी की ओर से सरकार बनाने की संभावनाओं को भी खत्म कर दिया।

Categories
फैक्ट फाइल

National Education Day: देश के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना आजाद क्यों थे खास, जानिए आप

आजाद भारत में नई शिक्षा व्यवस्था को लागू कराने में उनके व्यक्तित्व की अमिट छाप आज भी अंकित है।

Categories
फैक्ट फाइल

Maharashtra: बाला साहेब ठाकरे जिंदा होते तो खून के आंसू पोछ रहे होते, जानिए क्यों?

1995 में पहली बार विधानसभा में मिली जीत के बाद बाला साहेब ने कहा था कि मैंने कसम खाई है कि मैं सत्ता को टच नहीं करूंगां। मैं मुख्यमंत्री नहीं बनूंगा।

Categories
फैक्ट फाइल

बीजेपी के लौह पुरुष लालकृष्ण आडवाणी बोले— मेरा सपना पूरा हुआ, खुद के होने पर धन्य महसूस रहा हूं

राम मंदिर आंदोलन के लिए अपने रुख पर कायम हूं और खुद को धन्य महसूस कर रहा हूं कि सुप्रीम कोर्ट ने एकमत से अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर बनाने का रास्ता साफ किया।

Categories
फैक्ट फाइल

अयोध्या मामला: सुप्रीम फैसला आने से पहले जानिए 40 दिन की सुनवाई में क्या हुआ?

दोनों पक्षों की ओर से दलीलें सुनने के बाद 16 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट की 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था